Blogger: दिगम्बर नासवा at स्वप्न मेरे ......
कभी वो भूल से आए कभी बहाने से  मुझे तो फर्क पड़ा बस किसी के आने से नहीं ये काम करेगा कभी उठाने से ये सो रहा है अभी तक किसी बहाने से लिखे थे पर न तुझे भेज ही सका अब-तक मेरी दराज़ में कुछ ख़त पड़े पुराने से कभी न प्रेम के बंधन को आज़माना यूँके टूट जाते हैं रिश्ते यूँ आज़माने से तुझे छ...
clicks 5 View   Vote 0 Vote   10:19am 22 Apr 2019
Blogger: Akhillesh Upadhyaya at स्वदेशी गौ मद...
पपीते के पत्तो की चाय किसी भी स्टेज के कैंसर को सिर्फ 60 से 90 दिनों में कर देगी जड़ से खत्म,पपीते के पत्ते 3rd और 4th स्टेज के कैंसर को सिर्फ 35 से 90 दिन में सही कर सकते हैं।अभी तक हम लोगों ने सिर्फ पपीते के पत्तों को बहुत ही सीमित तरीके से उपयोग किया होगा, बहरहाल प्लेटलेट्स के कम...
clicks 3 View   Vote 0 Vote   8:26am 22 Apr 2019
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" at चर्चामंच...
आज की चर्चा में आपका हार्दिक स्वागत है  ताँका गिरवीं रखा जमाल जागो वोटर जागो  हर बार हारा मैं, हर बार हाथ आई बेबसी कहानीकार मालती मिश्रा की नज़र में कवच अमलतास बनारस की गलियाँ  ट्रेलर और पोस्टर से उठते सवाल हार में भी जीत का सुकून बातचीत  धन्यवाद  दिलबागसिंह ...
clicks 6 View   Vote 0 Vote   5:00am 22 Apr 2019
Blogger: M VERMA at जज़्बात...
पहचान करबयान देकर वापस लेने के ट्रेंड कोमाँ-बहन की अनगिनत गालियाँ दे डाली मैंने अपने फ्रेंड कोसोचा था मैं उसको सरप्राईज दूंगा बाद में अपनी गालियाँ वापस ले लूंगा,गालियाँ सुनकर उसका ब्लडप्रेशर बढ़ गया पारा भी सातवें आसमान पर चढ़ गया आव देखा न ताव छोड़ दिया उसने अपना अब तक ...
clicks 17 View   Vote 0 Vote   4:00am 22 Apr 2019
Blogger: माधवी रंजना at ........लालकिला...
( महिला सांसद 39  ) शकुंतला नायर हिंदू महासभा के टिकट पर चुनाव जीतकर उत्तर प्रदेश से लोकसभा में पहुंची। पहली लोकसभा में वे हिंदू महासभा की एकमात्र महिला सांसद थीं। मूल रूप से उत्तराखंड की रहने वाली शकुंतला ने दक्षिण भारतीय चर्चित आईसीएस अधिकारी केके नायर से विवाह किय...
clicks 7 View   Vote 0 Vote   12:00am 22 Apr 2019
Blogger: माधवी रंजना at DAANAPAANI...
भीमा ( चंद्रभागा) नदी के तट पर है कान्हा मंदिर महाराष्ट्र के शहर पंढरपुर में विट्ठलस्वामी यानी भगवान कृष्ण का प्रसिद्ध और ऐतिहासिक मंदिर है। पंढरपुर सोलापुर के पास भीमा नदी के तट पर बसा शहर है। इस शहर का एक नाम पंढारी भी है। महाराष्ट्र के लोग इस शहर को भू बैकुंठ मानते ...
clicks 5 View   Vote 0 Vote   12:00am 22 Apr 2019
Blogger: rozkiroti at रोज़ की रोटी -...
      जब एक व्यक्ति से पूछा गया कि क्या उसे लगता है कि आज के समाज की समस्या उदासीन रहना तथा जानकारी न रखना हो सकती है, तो उसने मुस्कुराते हुई उत्तर दिया, “न मैं यह जानता हूँ, और न ही इसकी परवाह करता हूँ।”      मुझे लगता है कि आज अनेकों निराश लोग सँसार तथा औरों क...
clicks 4 View   Vote 0 Vote   8:45pm 21 Apr 2019
Blogger: Sanjay Grover at नास्तिक The Atheist...
यह अद्भुत है।कबीरदास जो जिंदग़ी-भर अंधविश्वासों का विरोध करते रहे उनकी जब मृत्यु हुई तो उनके हिंदू और मुस्लिम शिष्य उनका अंतिम संस्कार अपने-अपने तरीक़े से करने के लिए लड़ने लगे। जब उन्होंने लाश पर से चादर हटाई तो नीचे से फूल निकल आए जिन्हें शिष्यों ने आधा-आधा बांट लिया।अ...
clicks 5 View   Vote 0 Vote   11:57am 21 Apr 2019
Blogger: Ajit at अजित गुप्‍ता ...
www.sahityakar.comकोई किसी महिला से पूछे कि तेरा नाम क्या है? तेरा उपनाम क्या है? तेरा देश क्या है? तो महिला सोचने का समय लेगी। क्यों लेगी! इसलिये लेगी कि विवाह के बाद उसका कहीं नाम बदल जाता है, उपनाम तो बदल ही जाती है और कभी देश भी बदल जाता है। इसलिये वह सोचती है कि कौन सा नाम बताऊँ, कौन ...
clicks 9 View   Vote 0 Vote   10:16am 21 Apr 2019
Blogger: प्रमोद जोशी at जिज्ञासा...
करीब सवा सौ विमानों के साथ चलने वाली देश की दूसरे नम्बर की एयरलाइंस का अचानक बंद होना स्तब्ध करता है। साथ ही कुछ कटु सत्यों को भी उजागर करता है। यह क्षेत्र बहुत निर्मम है। पिछले साल मार्च में यह बात साफ थी कि जेट एयरवेज डांवांडोल है। उसे पूँजी की जरूरत होगी। उस वक्त सबस...
clicks 10 View   Vote 0 Vote   8:35am 21 Apr 2019
Blogger: समीर लाल at उड़न तश्तरी .......
नव रात्रे चल रहे हैं.आजकल घन्सु मौन धरे हैं. नंगे पाँव रहते हैं. सुबह एक गिलास दूध पीते हैं. फिर सारा दिन पूजा पाठ में लिप्त रहते हैं. शाम को आदतानुसार चौक पर आते हैं पान की दुकान पर, मगर जुबान से बोलते कुछ नहीं, बस आँख से बतियाते हैं. बात बात पर मुंडी मटकाते हैं न और हाँ करने ...
clicks 10 View   Vote 0 Vote   6:54am 21 Apr 2019
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" at सृजन मंच ऑनला...
पवन पुत्र हनुमान वानर नही मानव थे … डा श्याम गुप्त =================================जगह-जगह मन्दिरों में स्थापित हनुमान जी की मूर्तियों को देख कर अधिकाँश हिन्दू और सभी विधर्मियों की आम धारणा है कि भगवान के रूप में प्रतिस्थापित हनुमान बानर थे |\इस धारणा की स्थापना तुलसी की ’राम चरित-म...
clicks 8 View   Vote 0 Vote   9:09pm 20 Apr 2019
Blogger: देवेन्द्र पाण्डेय at बेचैन आत्मा...
गली में भीड़ देखठिठक जाते थे कदमघुसकरझाँकते थे हम भीचबूतरे परबिछी होती थीशतरंज की बाजीखेलने वाले तोदो ही होते थेचाल बताने वाले होते थेकई।हर मोहल्ले में थींदो/चारचाय और पान की दुकानेंदुकानों के पासचबूतरों परसजती थीं अड़ियाँहोती थींखेल, फ़िल्म, नाटक, संगीत, साहित्य और.....
clicks 11 View   Vote 0 Vote   7:03pm 20 Apr 2019
Blogger: PAWAN KUMAR at Journey...
परिच्छेद - ९ (भाग -१)----------------------------"गंधर्व-पार्थिवोंकोविदाकहकर, पूर्णहर्ष, उत्सुकतावविस्मय-पूरितउसनेअपनीसेना-मध्यअपनेकक्षमेंप्रवेशकिया; औरशेषराजसदोंकोप्रणामकरके, उसनेवैशम्पायनवपत्रलेखाकेसंगअधिकतरदिवसबिताया, कहतेहुए, 'महाश्वेतानेऐसाकहा, ऐसाकादम्बरीने, ऐसाम...
clicks 9 View   Vote 0 Vote   5:30pm 20 Apr 2019
Blogger: Sanjay Grover at पागलखाना PAAGAL-KHA...
ग़ज़लकोई छुपकर रोता हैअकसर ऐसा होता हैदर्द बड़ा ही ज़ालिम हैऐन वक़्त पर होता हैशेर अभी कमअक़्ल है नाअभी नहीं मुंह धोता हैतुम ही कुछ कर जाओ नावक़्त मतलबी, सोता हैवो मर्दाना नहीं रहायूं वो खुलकर रोता है-संजय ग्रोवर...
clicks 15 View   Vote 0 Vote   4:51pm 20 Apr 2019
Blogger: Asha News at Jhabua News, News Jhabua Today, झ...
झाबुआ। लोकसभा निर्वाचन 2019 के तहत मतदाता जनजागरूकता अभियान के लिए जिले में व्यापक प्रचार प्रसार किया जाकर आमजन को मतदान दिनांक 19 मई 2019 की जानकारी दी जा रही है। हनुमान जयंती के अवसर पर मेघनगर के फुटतालाब मे आयोजित समारोह मे आये अतिथि अंतर्राष्ट्रीय ख्यात गीतकार दिलेर म...
clicks 20 View   Vote 0 Vote   2:04pm 20 Apr 2019
Blogger: डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" at उच्चारण...
-१-घण्टे-घड़ियाल, ताल-खड़ताल लेके अब,भारत माँ का कीर्तन-भजन होना चाहिए।देश की सीमाओँ को बचाने के लिए तो आज,तन-मन प्राण का हवन होना चाहिए।-२-शासकों को सीधी चाल चलने की जरूरत है,तुष्टिकरण नीति का दमन होना चाहिए।ईंट का जवाब अब देना होगा पत्थरों से,बैरियों को कब्र में दफन ह...
clicks 11 View   Vote 0 Vote   4:00am 20 Apr 2019
Blogger: Hemant Kumar at Fulbagiya...
बुद्धि बड़ी या शेर(पंचतंत्र की कहानी “चतुर खरगोश और शेर”पर आधारित कठपुतली नाटक )लेखक:डा०हेमन्त कुमार                      पात्र :1-नट-नटी 2-सोनू शेर 3-पिंकू खरगोश                      4-बन्दर मस्त कलंदर             ...
clicks 6 View   Vote 0 Vote   12:17am 20 Apr 2019
Blogger: Amit Mishra at Amit Mishra...
सुबह ने कान मेंकुछ कह दिया उधर सूरज सेझाँकने लगी है किरणेंइधर खुली खिड़कियों सेदीवारें चीख रही हैं शायद कोई किस्सा लिए ब...
clicks 16 View   Vote 1 Vote   2:52pm 19 Apr 2019
[ Prev Page ] [ Next Page ]

 
CONTACT US ADVERTISE T&C

Copyright © 2009-2013