Author rozkiroti at रोज़ की रोटी -...
   कैली स्टीन्हॉस ने हार्वर्ड स्क्वैयर जाकर छात्रों से जानना चाहा कि वे प्रभु यीशु मसीह के बारे में क्या सोचते हैं; और जो उत्तर उसे मिले वे प्रभु के प्रति आदरणीय तो थे परन्तु बहुत ही कम लोगों ने उसके जगत का उद्धारकर्ता होने को स्वीकार किया। एक ने उत्तर दिया कि प्रभु ल...
clicks 145 View   Vote 0 Vote   8:45pm 1 Jul 2016
Author Himkar Shyam at शीराज़ा [Shiraza]...
हमसफ़र भी नहीं है न है राहबर चल सको तो चलो साथ मेरे उधर मेरे हालात से तुम रहे बेख़बर हाल कितना बुरा है कभी लो ख़बरसाथ कुछ देर मेरे जरा तो ठहरमान जा बात मेरी ओ जाने ज़िगरयाद तेरी सताती हमें रात भरजागते जागते हो गयी फिर सहरदिल पे करते रहे वार पे वार तुमऔर चलाते रहे अपनी तीरे नज़र...
clicks 145 View   Vote 0 Vote   4:58pm 1 Jul 2016
Author रेखा श्रीवास्तव at मेरा सरोकार...
                        आज डॉक्टर्स डे है और वाकई डॉक्टर्स जो भगवान का रूप है इसी दुनियां में हैं।  उनका एक ही धर्म होता है और वह है मानव सेवा।  कभी कभी तो वह अपने पास से पैसे भी देकर सेवा कर जाते हैं।  आज का दिन वाकई ऐसे ही लोगों के लिए नमन ...
clicks 138 View   Vote 0 Vote   1:10pm 1 Jul 2016
Author माधवी रंजना at DAANA PAANI...
परवानू हिमाचल प्रदेश का प्रवेश द्वार है। जब आप चंडीगढ़ से कालका होते हुए शिमला के लिए आगे बढ़ते हैं तो हरियाणा का कालका खत्म होने के बाद हिमाचल का पहला शहर परवानू ही पड़ता है। लिहाजा यह हिमाचल का प्रवेश द्वार है। हिमाचल सरकार ने यहां लोकनिर्माण विभाग का एक गेस्ट हाउस ...
clicks 149 View   Vote 0 Vote   1:00pm 1 Jul 2016
Author satish saxena at मेरे गीत !...
लो अाज तुम्हारा गान लिखूं जग कष्टों से अनजान लिखूं , मैं मुफलिस का रमजान लिखूं राजाओं का इफ्तार लिखूं !कहजाओ तुमको यार लिखूं या केवल मित्र सुजान लिखूंअनुरक्ति कहां जाने है अबकींचड़ उछालते इस घर में ,  अा जाएं कभी अानंदमयी, कह जाएं व्यथा मन कहा...
clicks 132 View   Vote 0 Vote   12:42pm 1 Jul 2016
Author Ajit at अजित गुप्‍ता ...
शायद आदमी को भगवान ने अतृप्त बनाया है, वह संतुष्ट हो ही नहीं पाता। अपने आपको हमेशा कमतर आंकता है और गम में डूबने को मजबूर हो जाता है। काश हमारे वैज्ञानिक इस समस्या का कोई निदान निकाल सकें।पोस्ट को पढ़ने के लिये इस लिंक पर क्लिक करें - http://sahityakar.com/wordpress/%E0%A4%AE%E0%A4%A7%E0%A5%81%E0%A4%B6%E0%A4%BE%E0%A4%B2%E0%A4%BE-%...
clicks 155 View   Vote 0 Vote   12:22pm 1 Jul 2016
Author डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" at उच्चारण...
"चौपाई लिखिए"बहुत समय से चौपाई के विषय में कुछ लिखने की सोच रहा था!      आज प्रस्तुत है मेरा यह छोटा सा आलेख। यहाँ यह स्पष्ट करना अपना चाहूँगा कि चौपाई को लिखने और जानने के लिए पहले छंद के बारे में जानना बहुत आवश्यक है।       "छन्द काव्य को स्मरण योग्य बना देता ह...
clicks 194 View   Vote 0 Vote   11:30am 1 Jul 2016
Author zeashan zaidi at Hindi Science Fiction हिंद...
लेखक : ज़ीशान हैदर ज़ैदी उसने कमरे का दरवाजा खटखटाने से पहले उसपर लगी तख्ती पढ़ी, लिखा था, ‘‘डाग्स एण्ड लो नालेज पर्सन्स आर नाट एलाउड।’’एक पल को उसे अपने कदम डगमगाते महसूस हुए। उसके पास नालेज तो थी, लेकिन पता नहीं अंदर बैठे व्यक्ति को कितनी नालेज वाला व्यक्ति पसंद था।...
clicks 171 View   Vote 0 Vote   10:27am 1 Jul 2016
Author Arshiya Ali at लज़ीज़ खाना - L...
उत्तर प्रदेश की एक मशहूर कहावत है- गुड़ खाए अौर गुलगुलों से परहेज़। इस कहावत से याद आया कि क्या आपने गुलगुले खाए हैं? गुलगुले को कहीं-कहीं पर 'मीठे पुए' के नाम से भी पुकारा जाता है। अवध प्रांत के मुस्लिम परिवारों में शादी के पहले गुलगुले को खास तौर पर बनाया जाता है और घर प...
clicks 273 View   Vote 0 Vote   9:40am 1 Jul 2016
Author दिनेशराय द्विवेदी at तीसरा खंबा...
ीजेसमस्या- ब्रजमोहन सिंह ने गाजियाबाद उत्तर प्रदेश से पूछा है- मेरी पत्नी विवाह के पूर्व से ही सीजोफ्रेनिया रोग से पीड़ित है, यह बात मुझे नहीं बताई गयी थी। क्या मेरा विवाह शून्य या अकृत घोषित हो सकता है या मुझे डायवोर्स ही लेना होगा। समाधान- हिन्दू विवाह अधिनियम की धार...
clicks 261 View   Vote 0 Vote   9:39am 1 Jul 2016
Author Randhir Singh Suman at लो क सं घ र्ष !...
आधुनिक युग में सोशल मीडिया अभिव्यक्ति का सबसे सशक्त माध्यम है। जिसके द्वारा हम समाज के सभी पहलुओं को उठाने का कार्य करते हैं। चाहे वह आर्थिक हो, सामाजिक या फिर राजनैतिक सभी प्रकार की गतिविधियों को सोशल मीडिया ने अपने अंदर समा लिया है । किसी भी लोकतंत्र के सबसे महत्त्व...
clicks 65 View   Vote 0 Vote   8:51am 1 Jul 2016
Author सुशील बाकलीवाल at नजरिया...
                       एक सज्जन से एक सवाल पूछा गया कि भारत में जनरल कैटेगरी वाला होने पर आपका क्या अनुभव है तो उन्होंने जो जबाब दिया, उसे पढ़िए........(हिंदी में अनुवाद)           प्रवेश परीक्षा:         मेरा स्कोर :192, उसका स्...
clicks 96 View   Vote 0 Vote   6:28am 1 Jul 2016
Author डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक" at चर्चामंच...
मित्रों शुक्रवार की चर्चा में आपका स्वागत है।  देखिए मेरी पसन्द के कुछ लिंक। (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक') -- पटनीटॉप --   एक मिनी कश्मीर।  अंतर्मंथन पर डॉ टी एस दराल  -- ओ टेम्स की लहरों, तुम मत बदलना  प्रतिभा की दुनिया ...पर  Pratibha Katiyar  -- एक देशप्रेमी महाराजा की निशानी  ...
clicks 82 View   Vote 0 Vote   4:00am 1 Jul 2016
Author HARSHVARDHAN SRIVASTAV at ज्ञान कॉसमॉस ...
चित्र साभार - traveldigg.com 1894 ई. - लंदन London में टॉवर ब्रिज ( Tower Bridge )  को आम लोगों के लिए खोला गया था। 1960 ई. - अमेरिका America ने क्यूबा Cuba से चीनी का आयात बंद करने का निर्णय किया। 1969 ई. - श्रीलंका Sri Lanka के महान क्रिकेटर सनत जयसूर्या का जन्म हुआ था। जयसूर्या ने 110 टेस्ट मैच में 6,973 रन बनाए और कुल 98 विके...
clicks 98 View   Vote 0 Vote   11:48pm 30 Jun 2016
Author Poonam Srivastav at JHAROKHA...
घनन घनन अब बरसो बदरवाधरती का हियरा तड़पत हैखेतिहर की अंखियां हरदमअंसुअन से अब भीगत हैं।राह निहारे पंख पसारेपाखी एकटक देखत हैंअब बरसोगे तब बरसोगेमन में आस लगावत हैं।बिन पानी सब सूना सूनाजीव सभी अब भटकत हैंदिखे पानी की एक बूंदसब पूरी जान लगावत हैं।बड़ी बेर भई बादल राजा...
clicks 52 View   Vote 0 Vote   9:37pm 30 Jun 2016
Author Mohini Puranik at चैतन्यपूजा...
मौसम इतना खूबसूरत है कि प्यार पर लिखे बिना रहा नहीं जाता... प्यार की कुछ पंखुडियां जो पहले ट्वीट की थी कुछ नई पंखुड़ियों के साथ   गुलाब के फूल तो खुबसूरत होते ही हैं, पर ये गुलाब के पौधे के पत्ते कितने खुबसूरत हैं न? अगर प्यार बंधन है तो कोई अनजानी डोर हमें बांधे रही है ...
clicks 80 View   Vote 0 Vote   8:49pm 30 Jun 2016
Author rambilas garg at खबरी और गप्पी...
                        मैंने महाभारत को छः बार पढ़ा। एक चीज जो मुझे तब भी समझ में नहीं आई वो ये थी की महाभारत के युद्ध में महारथी शल्य किसकी तरफ से लड़ रहे थे ? मद्र नरेश शल्य पाण्डु की दूसरी पत्नी माद्री के भाई थे इसलिए नकुल और सहदेव के मामा थे।...
clicks 87 View   Vote 0 Vote   6:39pm 30 Jun 2016
Author dinesh chandra gupta ravikar at रविकर की कुण्...
काव्य में किन परिस्थितयों में अश्लील दोष भी गुण हो जाता है.और वह शृंगार 'रस'के घर में न जाकर 'रसाभास'की दीवारें लांघता हुआ दिखायी देता है.(1)स्वर्ण-शिखा सी सज-संवर, मानहुँ बढ़ती आग ।छद्म-रूप मोहित करे, कन्या-नाग सुभाग ।कन्या-नाग सुभाग, हिस्स रति का रमझोला ।झूले रमण दिमाग, भूल ...
clicks 50 View   Vote 0 Vote   5:49pm 30 Jun 2016
Author अपर्णा त्रिपाठी at palash "पलाश"...
देखतीरहतीहूँगिरते, इन्सानमेंइन्सानकोसोचतीहूँजाकरकहाँ, रुकेगीयेहैवानियतशर्मआंखोंकेकिसी कोनेमेंभीदिखतीनहीगिरतेमानवीमूल्यदेख बढतीमेरीहैरानियतछलबलकेदमआदमीगढताहैअस्तित्वकोऐसेपूज्यनीयोंकोदेखदेखडररहीशैतानियतमित्रसेतोशत्रुही फिर भले इस...
clicks 44 View   Vote 0 Vote   4:58pm 30 Jun 2016
[ Prev Page ] [ Next Page ]

 
CONTACT US ADVERTISE T&C

Copyright © 2009-2013