बावरा मन

अंधा कुआँ सी है जिंदगी

जो होता है , वो दिखता नहीं जो दिखता है , वो होता नहीं एक अंधा कुआँ सी है जिंदगी हर कोई गिरता है , पर संभलता नहीं ।।सु-मन ...
clicks 4  Vote 0 Vote  12:51pm 26 Sep 2018

जन्मदिवस हिंदी

जन्मदिवस मुबारक प्यारी हिंदीहर रोज हम तुम्हारा उपयोग करें |मिले तुम्हें नई पीढ़ी का साथतुम संग वो दोस्ती का आगाज़ करें |चाहे घर हो या दफ़्तर, बाज़ारहिंदी में ...
clicks 26  Vote 0 Vote  2:16pm 14 Sep 2018

ख्वाहिशों का मयखाना

भर भरखाली होता गया ख्वाहिशों का मयखानाबूँद बूँदअश्क़ होती गयीहसरतों की बारिश !!सु-मन ...
clicks 36  Vote 0 Vote  11:49am 6 Sep 2018

और तुम जीत गए

पक्का निश्चय करसाध कर अपना लक्ष्यचले थे इस बार ये कदममंजिल की ओरमन में विश्वास लिएमान ईश्वर को पालनहारकर दिया था अर्पित खुद कोउस दाता के द्वारमेहनत का ध...
clicks 48  Vote 0 Vote  11:19pm 16 Aug 2018

बिछड़न

आज ...निकाल कर सूखे पत्तों को रख दिया अलग करके ..बिछड़न हिस्सों में बँट कर जीना सीखा देती है !!सु-मन ...
clicks 44  Vote 0 Vote  12:54pm 10 Aug 2018

रेशम सी जिंदगी

रेशम सी जिंदगी में नीम से कड़वे रास्तेधुँधली सी हैं मंजिलें अनचाहे कई हादसे !!सु-मन...
clicks 53  Vote 0 Vote  3:50pm 4 Aug 2018

शब्द से ख़ामोशी तक – अनकहा मन का (१७)

..ज़ख्मों को कुरेदती हूँ तो दर्द सकून देता है !!सु-मन ...
clicks 53  Vote 0 Vote  11:31am 27 Jul 2018

शब्द से ख़ामोशी तक – अनकहा मन का (१६)

छलता है 'मन'यूँ ही मुझको बारहा लफ्ज़ों से फिर बेरुखी छलकने लगती है !!सु-मन ...
clicks 48  Vote 0 Vote  1:10pm 21 Jul 2018

ऐ साकी !

ऐ साकी ! पीला एक घूँट कि जी लूँ ज़रा बेअसर साँस में जिंदगी की कुछ हरारत हो !!सु-मन ...
clicks 47  Vote 0 Vote  12:28pm 7 Jul 2018

जिंदगी

ठक ठक ...कौन ? अंदर से आवाज़ आई |मैं \ बाहर से उत्तर आया |मैं !! मैं कौन ?जिंदगी .... , उसने जवाब दिया |अच्छा ! किसकी ? \ अंदर से सवाल |तुम्हारी \ भूल गई मुझे ... | इसी बीच मन के ...
clicks 51  Vote 0 Vote  5:17pm 24 Jun 2018
[ Prev Page ] [ Next Page ]
 
CONTACT US ADVERTISE T&C

Copyright © 2009-2013