ऋषभ उवाच

(रामायण संदर्शन) लोकाभिराम श्रीराम

राम लोक के देवता हैं। लोकप्रिय हैं। लोक रक्षक हैं। लोकाभिराम हैं। इसलिए अयोध्या के राजमहल से बाहर निकलते ही वे स्वयं को लोक में विलीन कर देते हैं। लोक जि...
clicks 0  Vote 0 Vote  12:30am 31 Jul 2018

(रामायण संदर्शन) उघरहिं अंत न होइ निबाहू

आजकल जिसे देखिए वही गठबंधन और समझौते की बातें करता दिखाई देता है। किसी तात्कालिक स्वार्थ की पूर्ति के लिए किए जाने वाले ऐसे गठबंधन बिखर भी बहुत जल्दी जा...
clicks 0  Vote 0 Vote  12:24am 31 Jul 2018

[दो शब्द] हिंदी की दुनिया : दुनिया में हिंदी

दो शब्द‘हिंदी है हम विश्व मैत्री मंच’ की स्थापना तथा ‘हिंदी की दुनिया और दुनिया में हिंदी’ का प्रकाशन एक सपने के फलीभूत होने जैसी सुखद घटनाएँ हैं. सपने क...
clicks 1  Vote 0 Vote  10:28pm 6 Jul 2018

रहनुमा तो नहीं हो, साँप ही तो हो : पं. गोपाल प्रसाद व्यास

पुण्य तिथि 28 मई पर विशेषरहनुमा तो नहीं हो, साँप ही तो हो : पं. गोपाल प्रसाद व्यास-ऋषभ देव शर्माउन्होंने कक्षा सात की भी परीक्षा नहीं दी थी, लेकिन वे अलंकार...
clicks 4  Vote 0 Vote  1:34pm 28 May 2018

रामकथा आधारित एनिमेशन ‘सीता सिंग्स द ब्ल्यूज़’ : एक अध्ययन

रामकथा आधारित एनिमेशन ‘सीता सिंग्स द ब्ल्यूज़’ : एक अध्ययनऋषभदेव शर्मा और कुमार लव‘रामायण’, ‘महाभारत’ और ‘बृहत्कथा’ भारतीय वाङ्मय के ऐसे आकर-ग्रंथ हैं ...
clicks 11  Vote 0 Vote  11:10am 25 May 2018

प्रवासी हिंदी कवियों की संवेदना : सरोकार के धरातल

प्रवासी हिंदी कवियों की संवेदना : सरोकार के धरातल - ऋषभ देव शर्मा हिंदी कविता का फलक आज पूरी तरह से अक्षेत्रीय हो चुका है. हिंदी के साहित्य-जगत में अब कभी ...
clicks 4  Vote 0 Vote  4:59pm 24 May 2018

(भूमिका) इक्कीसवीं सदी के हिंदी उपन्यास : विविध विमर्श

उपन्यास को आधुनिक युग का महाकाव्य कहा जाता है. इसका कारण यह है कि इस विधा में महाकाव्य की भाँति संपूर्ण जीवन को समेटने तथा भूत, भविष्य और वर्तमान को एक साथ ...
clicks 9  Vote 0 Vote  12:42pm 21 Mar 2018

तुलनात्मक भारतीय साहित्य : अवधारणा और मूल्य

प्रो. ऋषभदेव शर्मा के कक्षा-व्याख्यानों के आधार पर डॉ. गुर्रमकोंडा नीरजा द्वारा लिप्यंकिततुलनात्मक भारतीय साहित्य : अवधारणा और मूल्य - प्रो. ऋषभदेव शर...
clicks 15  Vote 0 Vote  3:16am 21 Mar 2018
[ Prev Page ] [ Next Page ]
 
CONTACT US ADVERTISE T&C

Copyright © 2009-2013