.मेरी अभिव्यक्ति

यह #जरुरत का #तकाजा है या #जीवन की #मज़बूरी !

चल पड़ता हूँ सफ़र पर एक अजनबी के साथ ,अपनी मंजिल पर पहुचने के लिए ।ठहर जाता हूँ एक रात अनजान सराय पर ,दिन भर की थकान मिटाने के लिए ।खरीद लाता हूँ सामान नुक्कड़ क...
clicks 2  Vote 0 Vote  2:09pm 17 Feb 2018

#साहिल पर तो आये #रिश्तों की #कश्तियाँ ।

#साहिल पर तो आये #रिश्तों की #कश्तियाँ ।यूँ ही अनजाने में जो कर बैठे हैं गुस्ताखियाँ ।अब तो बढ़ चले हैं  फासले और रूसवाइयां ।कुछ तो कम हो ये पल पल सताती दुश...
clicks 40  Vote 0 Vote  7:16am 10 Feb 2018

आपसे #अकेले में #बात करनी है !

सपनों के पीछे भागती भीड़ से परे ,जहां कोई व्याकुल कोलाहल न करे ,जहाँ कोई सफलता का अभिमान न धरे ,जहाँ निश्चल मन की मासूमियत न मरे ,अनुकूल  वातावरण में फैले क...
clicks 30  Vote 0 Vote  9:14am 2 Feb 2018

तेरी फ़िक्र इस कदर किये जाते है !

तेरी फ़िक्र इस कदर किये जाते है ,जहां भी जायें तेरा जिक्र किये जाते हैं ।महफ़िलों का दौर है सजा , जाम पर जाम है छलका ।इस हंसी दौर में तेरे होने की ख्वाइश  किय...
clicks 43  Vote 0 Vote  11:14pm 9 Jan 2018

काश तेरे होने की होती कद्र !

जब तक थे तुम साथ तुम्हारे होने की न हुई कद्र।तेरे न होने पर समझ आई तेरी अहमियत।साथ चलते रहे कदम कभी न किया कोई फ़िक्र ।तेरे जाने के बाद समझ आई तेरी काबिलियत...
clicks 33  Vote 0 Vote  11:57am 24 Dec 2017

#कम न हो #नये की #चाहत ।।

#कम न हो #नये की #चाहत ।।कुछ अलग और नये की चाहत , पुराने से ऊबने और उबरने की चाहत । तो कर गुजरते है कुछ अलग ,मिलती तसल्ली और होती है राहत ।छूटते है अपने और  ह...
clicks 39  Vote 0 Vote  11:08pm 17 Dec 2017

#बारात के दो #दृश्य !

मस्तियाँ और खुमारियों का छाया है आलम ,रंग बिरंगी रोशनियाँ से बरात ए जश्न है रोशन ,अपनी पसंद की बाराती बजवा रहे है धुन ,बच्चे, महिलाएं और बुजुर्गों के थिरके ...
clicks 45  Vote 0 Vote  11:42pm 10 Dec 2017

अलाव से गर्मी का पाया सुरूर .

दिन भर की कड़ी मेहनत से थक कर चूर ,शाम ढलते ही सभी चिंताओं से दूर ,कर रहें है सब मिलकर सामना भरपूर ,ठण्ड जो कुछ ज्यादा ही हो रही क्रूर ।तन पर गर्म कपड़े लिबास नह...
clicks 45  Vote 0 Vote  10:13pm 6 Dec 2017

प्रभाव या अभाव - मासूमों का बचपन कुचलने पर आमादा ।

यह इंसान की  पतित विकृत मानसिकता का प्रभाव है ,या भौतिकवादी इंसान की नैतिक सोच का आभाव ?यह धड़ल्ले से परोसी जा रही अश्लीलता का प्रभाव है ,या इंसान के अच्छे ...
clicks 23  Vote 0 Vote  6:27pm 13 Sep 2017

आज़ादी के अपने मायनों का जहान !

आज़ादी के अपने मायनों का जहान,  मेरा प्यारा हिन्दुस्तान ।कोई देश के लिए जी जी जान से लड़ता ,कोई देश के खिलाफ जहर उगलता ।कोई अपने कर्तव्यों पर खरा उतरता ,कोई ...
clicks 65  Vote 0 Vote  7:22pm 13 Aug 2017
[ Prev Page ] [ Next Page ]
 
CONTACT US ADVERTISE T&C

Copyright © 2009-2013