WOMAN ABOUT MAN

जैसा राजा वैसी प्रजा -अब तनाव कहाँ

     नया ज़माना आ गया है आज हम वी आई पी दौर में हैं ,पहले हमारे प्रधानमंत्री महोदय साल में बच्चों से मिलने का एक दिन रखते थे और आज प्रधानमंत्री हर वक़्त दे...
clicks 108  Vote 0 Vote  8:30pm 14 Feb 2018

ऐसे थे हमारे बाबू जी

   बाबू हुकुम सिंह ,वह नाम जिससे कैराना को राष्ट्र स्तर पर वह पहचान मिली कि कैराना का निवासी इस पूरे विश्व में मात्र इतना ही कहते पहचाना जाने लगा कि वह क...
clicks 96  Vote 0 Vote  7:35pm 4 Feb 2018

मेरा वज़ूद ऐसा है ,

मेरे दुश्मन को है खलता , मेरा वज़ूद ऐसा है ,गिराने से नहीं गिरता , मेरा वज़ूद ऐसा है !दिलों में बस गया है जो ,फकत इक नाम ऐसा है ,मिटाने से नहीं मिटता , मेरा वज़ूद ऐस...
clicks 114  Vote 0 Vote  8:30pm 27 Jan 2018

पिता हीरालाल कश्यप भी दोषी

       भारत वर्ष में एक दहेज़ को रोकने के लिए भारतीय दंड संहिता में भी प्रावधान हैं और इसके लिए अलग से दहेज़ प्रतिषेध अधिनियम भी बनाया गया है जिसकी जानक...
clicks 102  Vote 0 Vote  11:18am 27 Jan 2018

अभिमन्यु

अभिमन्युबनता जा रहाआज का युवाअपने ही चारों ओरअपने ही द्वारा रचितचक्रव्यूह मेंअपने अंतर्द्वंद्वों को झेलता,खुद से लड़ता,स्वयं हथियार बन वार करतास्वयं ...
clicks 73  Vote 0 Vote  6:25pm 23 Jan 2018

हाथ करें मजबूत ............

 भावनाएं वे क्या समझेंगे जिनकी आत्मा कलुषित हो ,अटकल-पच्चू  अनुमानों से मन जिनका प्रदूषित हो .सौंपा था ये देश स्वयं ही हमने हाथ फिरंगी के ,दिल पर रखकर ह...
clicks 161  Vote 0 Vote  6:30pm 11 Jan 2018

सैल्यूट टू शामली एस.पी.डॉ.अजयपाल शर्मा

    शामली जिला अपराधियों से भरपूर क्षेत्र ,कोई भी अधिकारी पुलिस का ज्यादा समय नहीं टिक पाता और इन्हीं अपराधियों की भरमार ने जन्म दिया ''कैराना पलायन प्र...
clicks 121  Vote 0 Vote  9:28pm 13 Dec 2017

मुट्ठी से रेत

मुट्ठी से रेतमुट्ठी से रेतअरे मत मारो इसे! अभी इसकी उम्र ही क्या है,आपको कोई गलत फहमी हुई है इतना बड़ा जघन्य अपराध सौलह साल का लड़का कैसे कर सकता है? किशोर की ...
clicks 156  Vote 0 Vote  4:01pm 24 Dec 2015

जन्मदिन की पार्टी

"जन्मदिन की पार्टी"न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रतीक शर्मा के बेटे के जन्मदिन का अवसर था।जाहिर सी बात है मेहमानो को तो निमन्त्रित करना ही थाप्रतीक की पत्नी जो ज...
clicks 148  Vote 0 Vote  4:00pm 24 Dec 2015

क्यों लेते हो दहेज़??

एक सन्देश उन तमाम लड़कों के नाम जो मेरे ही हमउम्र के हैं जिनमें से कोई आईएअस, कोई आरएअस, कोई अध्यापक, कोई पीओ, तो कोई डॉक्टर बनता हैं पढ़-लिखकर!सुनो! एक बात सुन...
clicks 167  Vote 0 Vote  1:47pm 8 Dec 2015
[ Prev Page ] [ Next Page ]
 
CONTACT US ADVERTISE T&C

Copyright © 2009-2013