Life iz Amazing

आजादी को आवारगी में न बदले, न बदलने दे

अगर बधाई से फुर्सत मिले तो आज आप अपने बच्चों को आजादी के लिए किए गए संघर्ष को अवश्य याद दिलाए, उन्हें यह भी बताए कि 200 वर्षों तक देश अखण्ड रहा और स्वतंत्रता ...
clicks 13  Vote 0 Vote  1:20pm 15 Aug 2018

इस स्वतन्त्रता दिवस आप इन प्रश्नों का उत्तर अवश्य ढूंढे

समस्त भरतवंश को स्वतन्त्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं.. हम सब ऋणी है उन हजारों-लाखों स्वतन्त्रता सेनानियों के जिन्होंने अपने प्राणों की आहुति देकर इस ...
clicks 1  Vote 0 Vote  11:19pm 14 Aug 2018

सारे बोल-बच्चन तो सच से है घबराते

सारी कथाएं, सारे प्रवचन, सत्य की महिमा सुनाते, हर किताब, हर लेख, सत्य की ही विजय बताते, पर एक सत्य यह भी है इस दो-गली दुनिया की, कि जब जब मैंने सत्य कहा मेरे अपन...
clicks 1  Vote 0 Vote  9:46am 22 Jul 2018

वो सावन अब तक नहीं आया

आज अपनी ही तस्वीर देखी तो कमबख्त ये ख़्याल आया, कि लिखते रहे औरों को इतना डूबकर कि खुद का ख्याल भी नहीं आया, औरों को लुभाने की चाह में मैं खुद को ही भूला आया, आ...
clicks 82  Vote 0 Vote  7:25pm 17 Jul 2018

जन्नत में मुझको दिलचस्पी नहीं है

जन्नत में मुझको दिलचस्पी नहीं है, पर सुना है वहाँ हूरें 72 मिलती है.. सम्भव है दीदार हो उस पर्दानशीं का वहाँ, जो मेरे मुहल्ले से रोज गुजरती है.. उसको देखा नहीं...
clicks 3  Vote 0 Vote  6:49pm 16 Jul 2018

हे कृष्णा

हे कृष्णा, मेरी कलम में तुम थोड़े, बंसी के लय घोलो न.. मुझे पढ़कर सबमें प्रेम बढ़े, ऐसे किस्से मुझसे गढ़वाओं न.. सुनने को सब मुझे भी ललचे, कुछ ऐसी मायाजाल बिछाओ न.. म...
clicks 18  Vote 0 Vote  9:01pm 14 Jul 2018

रश्मि को रश्मि रहने दो

उसकी अच्छी बातें, उसकी हाथों पर कलेवा, उसका नाम, उसका प्यार, सब फ़रेब निकला.. उसके इश्क़ में डूब कर, मैंने क्या-क्या न किया, मेरे वसूल, मेरा विश्वास बदला, हर रिश्...
clicks 4  Vote 0 Vote  2:00pm 27 Jun 2018

अक्सर झूठ सच का लिबास पहने आते है

हक़ीक़त रूठी परी है कबसे, फिर भी ख्वाब रिझाने आते है, है सब स्व में ही मगन फिर भी, वो मेरे है दिखाने आते है.. क्या कहूँ क्या लिखूं तुमसे, कि तुम्हें तो बस पढ़ने अक...
clicks 4  Vote 0 Vote  11:08pm 25 Jun 2018

मैंने किसी और का महल भी नहीं गिराया है..

माना मैंने ताजमहल नहीं बनाया है,पर मैंने किसी और का महल भी नहीं गिराया है.. माना मैं अब तक हूँ महरूम, शोहरत की रौशनी से,पर फिर मैंने कर बदनाम किसी को, अंधेरा ...
clicks 4  Vote 0 Vote  7:58pm 25 Jun 2018

ऐसा नहीं है कि मेरे तरकस में तीर नहीं है

ऐसा नहीं है कि मेरे तरकस में तीर नहीं है, पर बेवजह बहरों में खर्च करने को अब अनमोल शब्द नहीं है.. बड़ी-बड़ी बातें और बनावटी सपनों की आंधी है शहर में, सच ढ़ेर है ज...
clicks 4  Vote 0 Vote  4:23pm 22 Jun 2018
[ Prev Page ] [ Next Page ]
 
CONTACT US ADVERTISE T&C

Copyright © 2009-2013