कविता मंच

गाजे घन....................

घनन घनन घन गाजे घनसन सन सनन समीरछनन छनन छन पायलेंकल कल नदिया नीरकुहू कुहू कुक कोयलीपिहू पिहू मित मोरहर रही चित चंचल कोसुखद सुहानी भोरअंबर तक उड़ता आँचललह...
clicks 0  Vote 0 Vote  8:46pm 24 Jul 2017

सत्य....

एक दिन इस प्रतिस्पर्धा  का अंत हो  जायेगा।एक  दिन तू  अंतहीन  निद्रा  में  सो  जायेगा।।बहुत परिश्रम किया है तुमने  ने जिसे पाने में।एक दिन व...
clicks 0  Vote 0 Vote  7:57pm 24 Jul 2017

ख्वाहिशों का पंछी

बरसों से निर्विकार,निर्निमेष,मौन अपनेपिंजरे की चारदीवारियोंमें कैद, बेखबर रहा,वो परिंदा अपने नीड़में मशगूल भूल चुका थाउसके पास उड़ने कोसुंदर पंख भी हैखु...
clicks 0  Vote 0 Vote  6:47am 22 Jul 2017

रेप-----अंजली अग्रवाल

आज मुझे एक बार फिर आदरणीय अंजली अग्रवाल जी की ये कविता याद आ गयी....पानी के बुलबुले सी एक लड़की थी ॰॰॰॰ होठों पर मुस्कान लिये घर से निकली थी ॰॰॰॰ कि पड़ नजर श...
clicks 0  Vote 0 Vote  12:36pm 18 Jul 2017

नई सुबह की नई किरण

ह्रदय  को  वो  चाहे   जितना  समझालेफिर भी तो  उसको  थोड़ा  दुःख  होगा।देख  कर  हाथो  की  गीली  मेहँदी  कोआज स्वयं उसका मुख भी बेमुख हो...
clicks 14  Vote 0 Vote  9:58am 17 Jul 2017

ख़ालीपन से दूर .....

                उठो चलो     जी चुके बहुत     सहारों में,     ढूँढ़ो  न आसरा     धूर्तों-मक्कारों में।      सुख के पलछिन      दे...
clicks 5  Vote 0 Vote  11:33pm 16 Jul 2017

तुम्हारा साथ.......

एक तुम्हारा साथ सजनी हमको हम से प्यारा है तुम चाह जीवन की मेरेप्रेरक साथ तुम्हारा है....बैठो जो पहलू में मेरेरचूँ कविता साँझ-सवेरेरहूँ निरखता रूप तुम्...
clicks 4  Vote 0 Vote  8:41pm 15 Jul 2017

कुछ भी व्यर्थ नहीं

हर रात नींद की क्यारी मेंबोते है चंद बीज ख्वाब केकुछ फूल बनकर मुस्कुराते हैकुछ दफ्न होकर रह जाते हैबनते बिगड़ते ज़िदगी के राह मेंचंद सपनों के टूट जाने सेज...
clicks 3  Vote 0 Vote  8:09am 15 Jul 2017

चूड़ियाँ

छुम छुम छन छन करतीकानों में मधुर रस घोलतीबहुत प्यारी लगी थी मुझकोपहली बार देखी जब मैंनेमाँ की हाथों में लाल चूड़ियाँटुकुर टुकुर ताकती मैंसदा के लिए भा गय...
clicks 6  Vote 0 Vote  4:12pm 9 Jul 2017

एक ख्वाब

खामोश रात के दामन में,जब झील में पेड़ों के साये,गहरी नींद में सो जाते हैउदास झील को दर्पण बना चाँद मुस्कुराता होगा,सितारों जड़ी चाँदनी की झिलमिलाती चुनरी ओ...
clicks 3  Vote 0 Vote  8:11pm 6 Jul 2017
[ Prev Page ] [ Next Page ]
 
CONTACT US ADVERTISE T&C

Copyright © 2009-2013