शरारती बचपन

कृषि भूमि का बढ़ता विखंडन

कृषि भूमि का बढ़ता विखंडन भूमिहीन या लगभग भूमिहीन खेतिहर मजदूरो दस्तकारो अत्यंत छोटे जोतो से लेकर एक हेक्टेयर से कम जोतो के सीमान्त किसानो तथा एक से दो ह...
clicks 15  Vote 0 Vote  3:28pm 5 Aug 2018

जब दर्द नही था सीने में तब ख़ाक मजा था जीने में -------

जब दर्द नही था सीने में तब ख़ाक मजा था जीने में -----------इन गीतों को सुर देने वाले किशोर दा का -------- ============== आज है जन्म दिन ===================सपनो के शहर ,हम बनायेगे घर पल भर में य...
clicks 0  Vote 0 Vote  4:31pm 4 Aug 2018

हरि ॐ --- मन तरपत हरि दर्शन को आज , मोरे तुम बिन बिग्रे सब काज -- शकील बदायूनी

आज है उनका जन्म दिन हरि ॐ --- मन तरपत हरि दर्शन को आज , मोरे तुम बिन बिग्रे सब काज -- शकील बदायूनी जीवन के दर्शन को अपने कागज के कैनवास पर लिपिबद्द करने वाले मशह...
clicks 0  Vote 0 Vote  5:42pm 3 Aug 2018

ब्राह्मण -- भाग - पाँच

ब्राह्मण -- भाग - पाँचननदों के बाद पिछले शुद्र ( नव ) ननदों के साथ मैंने राजनीति में साझा किया और सारे क्षत्रिय राजाओं का उच्छेद कर डाला | परन्तु मेरा यह सौभा...
clicks 1  Vote 0 Vote  2:19pm 2 Aug 2018

अतीत के झरोखे से आजमगढ़ -

अतीत के झरोखे से आजमगढ़ -चकलेदारो का शासन - विकास का नया दौरमुगलकाल के गिरते हुए राज्य में चकलेदारी की नई प्रथा शुरू हुई जो पहले से प्रचलित कृषि कार्य में ''...
clicks 2  Vote 0 Vote  7:37pm 1 Aug 2018

दानबहादुर सिंह 'सूँड़ फैजाबादी''''आज जन्मदिन है उनका ''

दानबहादुर सिंह 'सूँड़ फैजाबादी''''आज जन्मदिन है उनका ''हरे - हरे नोटों में लगता प्यारा पेड़ खजूर का |बनिया तो बदनाम बेचारा किसे नही दरकार है ||हास्य का नाम लेते ह...
clicks 2  Vote 0 Vote  5:40pm 1 Aug 2018

चालीस साल लम्बी दर्द की कविता खत्म ----------गुलजार

आज मीना जी का जन्म दिन है ------------------चालीस साल लम्बी दर्द की कविता खत्म ----------गुलजारमीना जी ने अपनी डायरी गुलजार को सौपी | गुलजार ने उनकी मृत्यु पर कहा था की चाली...
clicks 1  Vote 0 Vote  12:42pm 1 Aug 2018

ब्राह्मण - भाग - चार 31-7-18

ब्राह्मण - भाग - चार मैंने भी इसके विरुद्ध अपनी आवाज उठायी | 'धिग्बल क्षत्रियबल ब्रम्हतेजोबल बलम 'का सबल नाद किया | यजमान को निरस्त करने का सब प्रकार से प्रण ...
clicks 2  Vote 0 Vote  4:03pm 31 Jul 2018

ब्राह्मण भाग - तीन 30-718

ब्राह्मण भाग - तीन मैंने अधिकतर उन दासो को अपने घरो में रखा , जो अपनी सभ्यता में पुरोहित रह चुके थे | उनमे झाड - फूंक की बड़ी मान्यता और प्रभुता थी | मैंने उनसे ...
clicks 2  Vote 0 Vote  4:06pm 30 Jul 2018

ब्राह्मण -- भाग -- दो 27-7-18

ब्राह्मण ---- भाग -- दो मैं तब गायक था | अपने जाने हुए आर्ष रहस्य का मैं गानपूर्वक विस्तार करता था | पार्थिव शक्तियों को मैं देवत्व प्रदान करना मुर्खता समझता थ...
clicks 1  Vote 0 Vote  3:56pm 27 Jul 2018
[ Prev Page ] [ Next Page ]
 
CONTACT US ADVERTISE T&C

Copyright © 2009-2013