स्वप्न मेरे ...

पीढ़ी दर पीढ़ी से संभला एक ज़माना रक्खा है ...

जितनी बार भी देश आता हूँ, पुराने घर की गलियों से गुज़रता हूँ, अजीब सा एहसास होता है जो व्यक्त नहीं हो पाता, हाँ कई बार कागज़ पे जरूर उतर आता है ... अब ऐसा भी नहीं ह...
clicks 28  Vote 0 Vote  10:12am 14 May 2019

पीढ़ी दर पीढ़ी से संभला एक ज़माना रक्खा है ...

जितनी बार भी देश आता हूँ, पुराने घर की गलियों से गुज़रता हूँ, अजीब सा एहसास होता है जो व्यक्त नहीं हो पाता, हाँ कई बार कागज़ पे जरूर उतर आता है ... अब ऐसा भी नही...
clicks 0  Vote 0 Vote  10:12am 14 May 2019

ख़त हवा में अध्-जले जलते रहे ...

मील के पत्थर थे ये जलते रहे कुछ मुसफ़िर यूँ खड़े जलते रहे पास आ, खुद को निहारा, हो गया फुरसतों में आईने जलते रहे कश लिया, एड़ी से रगड़ा ...पर नहीं “बट” तुम्हारी याद...
clicks 43  Vote 0 Vote  7:55am 29 Apr 2019

मेरी निगाह में रहता है वो ज़माने से ...

कभी वो भूल से आए कभी बहाने से  मुझे तो फर्क पड़ा बस किसी के आने से नहीं ये काम करेगा कभी उठाने से ये सो रहा है अभी तक किसी बहाने से लिखे थे पर न तुझे भेज ही सका...
clicks 66  Vote 0 Vote  10:19am 22 Apr 2019

चाँद उतरता है होले से ज़ीने पर ...

हुस्नो-इश्क़, जुदाई, दारू पीने पर मन करता है लिक्खूं नज़्म पसीने पर  खिड़की से बाहर देखो ... अब देख भी लो  क्यों पंगा लेती हो मेरे जीने पर  सोहबत में बदनाम हु...
clicks 63  Vote 1 Vote  7:31am 15 Apr 2019

किसी के दर्द में तो यूँ ही छलक लेता हूँ ...

हज़ार काम उफ़ ये सोच के थक लेता हूँ में बिन पिए जनाब रोज़ बहक लेता हूँ   ये फूल पत्ते बादलों में तेरी सूरत है वहम न हो मेरा में पलकें झपक लेता हूँकभी न पास टि...
clicks 65  Vote 0 Vote  1:45pm 8 Apr 2019

शर्ट के टूटे बटन में रह गए ...

प्रेम के कुछ दाग तन में रह गएइसलिए हम अंजुमन में रह गए सब तो डूबे चुस्कियों में और हमनर्म सी तेरी छुवन में रह गए चल दिए कुछ लोग रिश्ता तोड़ कर कुछ निभाने की ज...
clicks 52  Vote 0 Vote  11:52am 1 Apr 2019

अरे “शिट” आखरी सिगरेट भी पी ली ...

सुनों छोड़ो चलो अब उठ भी जाएँ कहीं बारिश से पहले घूम आएँयकीनन आज फिर इतवार होगा उनीन्दा दिन है, बोझिल सी हवाएँहवेली तो नहीं पर पेड़ होंगेचलो जामुन वहाँ से त...
clicks 57  Vote 0 Vote  7:55am 25 Mar 2019

मेरे पहलू में इठलाए, तो क्या वो इश्क़ होगा ...

तेरी हर शै मुझे भाए, तो क्या वो इश्क़ होगा  मुझे तू देख शरमाए, तो क्या वो इश्क़ होगा   हवा में गूंजती है जो हमेशा इश्क़ बन कर   वो सरगम सुन नहीं पाए तो क्य...
clicks 49  Vote 0 Vote  12:56pm 18 Mar 2019

दुबारा क्या तिबारा ढूंढ लेंगे ...

सहारा बे-सहारा ढूंढ लेंगे मुकद्दर का सितारा ढूंढ लेंगेजो माँ की उँगलियों में था यकीनन वो जादू का पिटारा ढूंढ लेंगे गए जिस जिस जगह जा कर वहीं हमहरा बुन्दा ...
clicks 64  Vote 0 Vote  9:16am 11 Mar 2019
[ Prev Page ] [ Next Page ]
 
CONTACT US ADVERTISE T&C [ FULL SITE ]

Copyright © 20018-2019