अनकहे किस्से

बाकी है एक उम्मीद

यूँ ही कल झाड़ पोंछ में ज़हन कीवक़्त की दराज़ से निकल आये कुछ ख़्याल पुराने...
clicks 12  Vote 0 Vote  9:20am 19 Aug 2019

प्रेम और प्रकृति

प्रेम एक प्राकृतिक प्रक्रिया है।प्रेम होना ठीक वैसा ही है जैसे पेड़...
clicks 35  Vote 0 Vote  11:24am 12 Aug 2019

सफ़र

हम सभी अक़्सर बस या रेल से सफ़र करते हैं और हर लंबें सफर के रास्ते में कुé...
clicks 23  Vote 0 Vote  2:58pm 4 Aug 2019

डायरी

आज पहली बार इस डायरी में कुछ लिखने जा रहा हूँ।तुम अक़्सर कहा करती थी ना...
clicks 21  Vote 0 Vote  9:29am 31 Jul 2019

पहली बारिश

उफ़्फ़ ये पहली बारिश...ये पहली बारिश भी ना बड़ी जिद्दी होती है, हर बार चली आ...
clicks 20  Vote 0 Vote  10:50am 29 Jul 2019

तुम्हें लिखूँगा बस कविता में

तेरी याद में डूबा हूँ परग़म के प्याले नही भरूँगासुन लूँगा इस जग के तान&...
clicks 55  Vote 0 Vote  3:01pm 19 Jul 2019

कविताएं

मैंने आँखों में झाँक कर इजाज़त लेनी चाही मगर हर बार उसने नजरें मिलने स&...
clicks 52  Vote 0 Vote  10:21am 16 Jul 2019

चुनाव

चुनाव:मुझे बुद्ध के मार्ग पर चलना था तो मैंने कृष्ण का उपाय चुना....जैसí...
clicks 45  Vote 0 Vote  9:50am 11 Jul 2019

पहला ख़त

Hi,कैसी हो? ठीक ही होगी.....ठीक क्यों मजे में होगी..मजा ही आता है ना तुम्हे मु...
clicks 48  Vote 0 Vote  10:07am 8 Jul 2019

ज़िंदगी काट जाएगी तुम्हारे बाद भी....

ज़िंदगी कट तो रही थी तुमसे पहले भीज़िंदगी  कट  जाएगी  तुम्हारे  बाद  भ&...
clicks 39  Vote 0 Vote  9:34am 6 Jul 2019
[ Prev Page ] [ Next Page ]
 
CONTACT US ADVERTISE T&C [ FULL SITE ]

Copyright © 20018-2019