नमस्ते namaste

नारायण की चवन्नी

जीवन को उत्सव जानो ।कर्मठता में ढालो ।परम उत्साह से सींचो ।हर अनुभव से कुछ सीखो ।विद्या का सार समझो ।अवसर पर न चूको ।परिश्रम करते रहो ।हरि नाम जपते रहो ।स...
clicks 10  Vote 0 Vote  12:24am 17 Jul 2019

नारायण की चवन्नी

जीवन को उत्सव जानो ।कर्मठता में ढालो ।परम उत्साह से सींचो ।हर अनुभव से कुछ सीखो ।विद्या का सार समझो ।अवसर पर न चूको ।परिश्रम करते रहो ।हरि नाम जपते रहो ।स...
clicks 2  Vote 0 Vote  12:24am 17 Jul 2019

आषाढ़ी एकादशी का नमन

तीन गुलाब खिले एक साथ !छोटे से पौधे पर !पात-पात पर आई बहार !चतुर्दिक छाई रौनक़ !वर्षा हो रही थम-थम  .. बूंदों का जलतरंग कर्णप्रिय सुन कर गदगद मन मयूर फै...
clicks 16  Vote 0 Vote  8:26pm 12 Jul 2019

आषाढ़ी एकादशी का नमन

तीन गुलाब खिले एक साथ !छोटे से पौधे पर !पात-पात पर आई बहार !चतुर्दिक छाई रौनक़ !वर्षा हो रही थम-थम  .. बूंदों का जलतरंग कर्णप्रिय सुन कर गदगद मन मयूर फै...
clicks 8  Vote 0 Vote  8:26pm 12 Jul 2019

बेधड़क

...
clicks 35  Vote 0 Vote  10:51pm 10 Jul 2019

जलमय सजल मन

जो पूछना नहीं भूलतेकैसे हैं आपके पौधे ..उन्हें पता है आपकी जान बसती हैअपने पौधों में,जैसे कहानियों मेंअक्सर राजा कीजान बसती थी हरे तोते में ।उन्हें आभास ...
clicks 37  Vote 0 Vote  8:01pm 7 Jul 2019

जलमय सजल मन

जो पूछना नहीं भूलतेकैसे हैं आपके पौधे ..उन्हें पता है आपकी जान बसती हैअपने पौधों में,जैसे कहानियों मेंअक्सर राजा कीजान बसती थी हरे तोते में ।उन्हें आभास ...
clicks 8  Vote 0 Vote  8:01pm 7 Jul 2019

जिजीविषा और दुआ

आज यह फूल खिलाउस पौधे पर,जिस पौधे कीलगभग इतिहो चुकी थी ।पर जब किसी ने कहा,चमत्कारीहोती है आशा..और सेवा,उस भरोसे नेपौधा फेंकनेनहीं दिया ।दिन-रात बसमन में ...
clicks 61  Vote 0 Vote  11:04pm 27 May 2019

India 23rd may 2019

...
clicks 173  Vote 0 Vote  12:01am 24 May 2019

India 23rd may 2019

...
clicks 17  Vote 0 Vote  12:01am 24 May 2019
[ Prev Page ] [ Next Page ]
 
CONTACT US ADVERTISE T&C [ FULL SITE ]

Copyright © 20018-2019