आपका-अख्तर खान "अकेला"

तुमसे पहले भी लोगों ने इस किस्म की बातें (अपने वक़्त के पैग़म्बरों से) पूछी थीं

ऐ ईमान वालों ऐसी चीज़ों के बारे में (रसूल से) न पूछा करो कि अगर तुमको मालूम हो जाए तो तुम्हें बुरी मालूम हो और अगर उनके बारे में कु़रान नाजि़ल होने के वक़्त...
clicks 2  Vote 0 Vote  6:40am 17 Jul 2019

इंसानियत से कभी मत गिरना

यह मंदिर यह मस्जिद यह मदरसे यह पाठशालाये यह गुरुकुल यह इबादत घर यह गुरुद्वारे यह चर्च सभी तो मोहब्बत सिखाते है ईमानदारी से प्यार से मोहब्बत से जीना सिखा...
clicks 12  Vote 0 Vote  6:19am 16 Jul 2019

ऐ ईमानदार जो पाक चीज़े ख़ुदा ने तुम्हारे वास्ते हलाल कर दी हैं उनको अपने ऊपर हराम न करो

और अगर ये लोग ख़ुदा और रसूल पर और जो कुछ उनपर नाजि़ल किया गया है इमान रखते हैं तो हरगिज़ (उनको अपना) दोस्त न बनाते मगर उनमें के बहुतेरे तो बदचलन हैं (81) (ऐ रसू...
clicks 1  Vote 0 Vote  6:16am 16 Jul 2019

तुम मुट्ठी भर लोग ,जो विदेशी ताक़तों के इशारे पर ,,भारत देश में अराजकता फैलाकर ,यहां के पर्यटन ,व्यापार उधोग को नुकसान पहुंचाकर भारत की विकास दर को कम रखना चाहते हो

तुम मुट्ठी भर लोग ,जो विदेशी ताक़तों के इशारे पर ,,भारत देश में अराजकता फैलाकर ,यहां के पर्यटन ,व्यापार उधोग को नुकसान पहुंचाकर भारत की विकास दर को कम रखना ...
clicks 1  Vote 0 Vote  6:38am 15 Jul 2019

कोटा की राजनितिक नवाज़िश के पीछे सूफियाना ,हाजियों की खिदमत

कोटा जंगलीशाह बाबा परिसर में आज हज प्रशिक्षण शिविर में ,,कोटा की राजनितिक नवाज़िश के पीछे सूफियाना ,हाजियों की खिदमत होना बताया गया है ,इन बुज़ुर्ग सूफी की ...
clicks 2  Vote 0 Vote  6:34am 15 Jul 2019

और समझ लिया कि (इसमें हमारे लिए) कोई ख़राबी न होगी बस (गोया) वह लोग (अम्र हक़ से) अंधे और बहरे बन गए

और समझ लिया कि (इसमें हमारे लिए) कोई ख़राबी न होगी बस (गोया) वह लोग (अम्र हक़ से) अंधे और बहरे बन गए (मगर बावजूद इसक) जब इन लोगों ने तौबा की तो फिर ख़ुदा ने उनकी ...
clicks 1  Vote 0 Vote  6:32am 15 Jul 2019

कोई काम नहीं है मुश्किल जब किया इरादा पक्का

कोई काम नहीं है मुश्किल जब किया इरादा पक्का ,इसी पक्के इरादे के चलते ,सीकर फेमिली कोर्ट के जज आदरणीय तिरुपति गुप्ता साहब ने ,बिछड़े हुए परिवारों को मिलान...
clicks 2  Vote 0 Vote  8:37am 14 Jul 2019

(ख़ुदा को छोड़कर) शैतान की परस्तिश की हो बस ये लोग दरजे में कहीं बदतर और राहे रास्त से भटक के सबसे ज़्यादा दूर जा पहँचे हैं

ऐ ईमानदारों यहूदियों और नसरानियों को अपना सरपरस्त न बनाओ (क्योंकि) ये लोग (तुम्हारे मुख़ालिफ़ हैं मगर) बाहम एक दूसरे के दोस्त हैं और (याद रहे कि) तुममें से ...
clicks 2  Vote 0 Vote  8:33am 14 Jul 2019

बस तुम नेकी में लपक कर आगे बढ़ जाओ

रसूल जो लोग कुफ़्र की तरफ़ लपक के चले जाते हैं तुम उनका ग़म न खाओ उनमें बाज़ तो ऐसे हैं कि अपने मुँह से बे तकल्लुफ़ कह देते हैं कि हम ईमान लाए हालाँकि उनके द...
clicks 1  Vote 0 Vote  6:31am 13 Jul 2019

राजस्थान के हज़ारों पैराटीचर्स ,,साक्षरता कार्यक्रम को बढ़ावा देने की कोशिशों में जुटे रहे ,लेकिन सरकार ने उन्हें ,,खुद के,, परिवार के,, गरीबी की रेखा से भी निम्न जीवन यापन ,और न्यूनतम मज़दूरी के बराबर भी मानदेय ,,मासिक भत्ता नहीं दिया

राजस्थान के हज़ारों पैराटीचर्स ,,साक्षरता कार्यक्रम को बढ़ावा देने की कोशिशों में जुटे रहे ,लेकिन सरकार ने उन्हें ,,खुद के,, परिवार के,, गरीबी की रेखा से भी न...
clicks 16  Vote 0 Vote  6:45am 12 Jul 2019
[ Prev Page ] [ Next Page ]
 
CONTACT US ADVERTISE T&C [ FULL SITE ]

Copyright © 20018-2019