अजित गुप्‍ता का कोना

साम्प्रदायिकता बिल में और राष्ट्रवाद परचम में

www.sahityakar.comमेरे देश में साम्प्रदायिकता कहीं खो गयी है, मैं उसे हर बिल में खोज चुकी हूँ, गली-मौहल्ले में भी नहीं मिली, आखिर गयी तो गयी कहाँ? यह तो छिपने वाली चीज थ...
clicks 22  Vote 0 Vote  10:09am 14 May 2019

तीन पीढ़ी की माँ

www.sahityakar.comआज सुबह से ही मन अपने अन्दर बसी माँ को ढूंढ रहा है। ढूंढते-ढूंढते कभी अपनी माँ सामने खड़ी हो जाती है, कभी अपनी बेटी सामने होती है तो कभी अपनी बहु सामन...
clicks 17  Vote 0 Vote  12:31pm 12 May 2019

गाँधीजी का देश के साथ झूठ का प्रयोग!

www.sahityakar.comसत्य के प्रयोग – गाँधी इन्हीं प्रयोगों के नाम से प्रसिद्ध हैं। वे सत्य के प्रयोग अपने ऊपर करते रहे लेकिन वे देश के ऊपर झूठ के प्रयोग कर बैठे। मैं गा...
clicks 30  Vote 0 Vote  9:43am 10 May 2019

यह ब्लेकमेलिंग नहीं तो क्या है?

www.sahityakar.comयह ब्लेकमेलिंग नहीं तो क्या है? खुले आम हो रही है ब्लेकमेलिंग, सबसे ज्यादा मीडिया कर रहा है ब्लेकमेलिंग। कई दिन पुराना साक्षात्कार कल सुना, मीडिया...
clicks 21  Vote 0 Vote  9:24am 9 May 2019

देगची खदबदा रही है, फूटने का इंतजार भर

www.sahityakar.comसेकुलर बिरादरी और मुस्लिम बुद्धिजीवी दोनों ही होच-पोच होने लगे हैं। अन्दर ही अन्दर देगची में ऐसा कुछ पक रहा है जिससे इनकी नींद उड़ी हुई है। महिलाए...
clicks 23  Vote 0 Vote  8:58am 5 May 2019

रौल विंसी इमेज खत्म करने के अखाड़े में

www.sahityakar.comकौन कहता है कि राहुल गाँधी उर्फ रौल विंसी कमअक्ल हैं? हो भी सकता है कि कमअक्ल हों लेकिन इस गुड्डे में चाबी भरने वाला जरूर अक्लवान है। मतलब यह है कि द...
clicks 26  Vote 0 Vote  9:26am 4 May 2019

यह कंकर वाली दाल है

www.sahityakar.comमुझ जैसी महिला के लिये हर रोज सुबह एक नयी मुसीबत लेकर आती है, आप पूछेंगे कि ऐसा क्या है जो रोज आती है! सुबह नाश्ते में क्या बनेगा और दिन में खाने में क...
clicks 41  Vote 0 Vote  8:52am 2 May 2019

मेरी अंगुली की स्याही ही मेरा लोकतंत्र है

www.sahityakar.comएक जमाना था जब अंगुली पर स्याही का निशान लगने पर मिटाने की जल्दी रहती थी लेकिन एक जमाना यह भी है कि अंगुली मचल रही है, चुनावी स्याही का निशान लगाने क...
clicks 25  Vote 0 Vote  9:59am 29 Apr 2019

सौगात किस-किस ने भेजी!

www.sahityakar.comमैं चोरी-छिपे तुझे सौगात भेजूँ और तू है कि सबको ढोल बजाकर बता दे कि दीदी ने सौगात भेजी है! तू देख, अब मैं तुझे कंकर वाले लड्डू भेजूंगी।दीदी नाराज क्य...
clicks 27  Vote 0 Vote  9:05am 28 Apr 2019

भारत की नाक तेरी जय हो

www.sahityakar.comभारत की नाक और दादी की नाक का संघर्ष होते-होते रह गया! नाक को नापने जितना भी समय नहीं दिया गया! हमने तो अरमान पाल रखे थे कि दो नाकों का महायुद्ध होगा औ...
clicks 45  Vote 0 Vote  8:56am 27 Apr 2019
[ Prev Page ] [ Next Page ]
 
CONTACT US ADVERTISE T&C [ FULL SITE ]

Copyright © 20018-2019